Uncategorized

तुषार जोशी की आवाज़, मनीष वंदेमातरम् के शब्द

हिन्द-युग्म पर पॉडकास्टिंग की शुरूआत १५ फरवरी २००७ को तुषार जोशी ने अपने पॉडकास्ट ब्लॉग Audio Experiments पर मनीष वंदेमातरम् की कविता ‘आवोगी ना’ से की थी। इस पॉडकास्ट को ३०० से अधिक लोगों ने डाऊनलोड किया। हमने सोचा कि हिन्द-युग्म के पॉडकास्ट के स्थाई पेज़ ‘आवाज़’ पर इधर-उधर बिखरे पड़े पॉडकास्ट को लाकर संग्रकित करना उचित होगा ताकि श्रोताओं को सारी सामग्री एक जगह मिल जाय।

सुनिए मनीष की कविता ‘आवोगी ना’ का पॉडकास्ट

तुषार जी की ही आवाज़ में मनीष की दो अन्य कविताएँ सुनें-

चाहता हूँ मैं

सनीचरी

हिन्द-युग्म के ढेरों पॉडकास्ट यहाँ उपलब्ध हैं।

Related posts

माई री मैं कासे कहूँ…मदन मोहन की दुर्लभ आवाज़ में

Sajeev

मन के बंद कमरों को लौट चलने की सलाह देता एक रॉक गीत कृष्ण राजकुमार की आवाज़ में

Amit

एक चित का चोर जो गायक भी है, गीतकार भी और संगीतकार भी….- रविन्द्र जैन

Amit