Tag : Talat Mahmood

Dil se Singer

राग केदार : SWARGOSHTHI – 277 : RAG KEDAR और विदुषी वीणा सहस्त्रबुद्धे को श्रद्धांजलि

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 277 में आज मदन मोहन के गीतों में राग-दर्शन – 10 : जब राज कपूर की आवाज़ बने तलत साहब ‘मैं पागल मेरा...
Dil se Singer

जयन्त और देस मल्हार : SWARGOSHTHI – 229 : JAYANT AND DES MALHAR

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 229 में आज रंग मल्हार के – 6 : राग जयन्त मल्हार और देस मल्हार ‘ऋतु आई सावन की…’ और ‘सावन की रातों...
Dil se Singer

इसकी टोपी उसके सर – प्रसिद्ध ग्रामोफ़ोन रेकॉर्ड कलेक्टर वी. एस. दत्ता बता रहे हैं पुराने ज़माने के कुछ इन्स्पायर्ड गीतों के बारे में

PLAYBACK
स्मृतियों के स्वर – 12 प्रसिद्ध ग्रामोफ़ोन रेकॉर्ड कलेक्टर वी. एस. दत्ता बता रहे हैं पुराने ज़माने के कुछ इन्स्पायर्ड गीतों के बारे में इसकी...
Dil se Singer

तालवाद्य घटम् पर एक चर्चा

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 169 में आज संगीत वाद्य परिचय श्रृंखला – 7 एक सामान्य मिट्टी का घड़ा, जो लोक मंच के साथ ही शास्त्रीय मंच पर...
Dil se Singer

६ मार्च- आज का गाना

Amit
गाना: अंधे जहान के अंधे रास्ते चित्रपट:पतिता संगीतकार:शंकर – जयकिशन गीतकार:शैलेन्द्र स्वर: तलत महमूद अंधे जहान के अंधे रास्ते, जाएं तो जाएं कहाँ दुनिया तो...
Dil se Singer

जीवन है मधुबन….इस गीत की प्रेरणा है मशहूर के सरा सरा गीत की धुन

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 442/2010/142 अंग्रेज़ी में एक कहावत है – “1% inspiration and 99% perspiration makes a man successful”. अर्थात् परिश्रम के मुक़ाबले...
Dil se Singer

मोहब्बत तर्क की मैंने गरेबाँ सी लिया मैंने.. दिल पर पत्थर रखकर खुद को तोड़ रहे हैं साहिर और तलत

Amit
महफ़िल-ए-ग़ज़ल #८९ “सना-ख़्वाने-तक़दीसे-मशरिक़ कहां हैं?” – मुमकिन है कि आपने यह पंक्ति पढी या सुनी ना हो, लेकिन इस पंक्ति के इर्द-गिर्द जो नज़्म बुनी...
Dil se Singer

ऐ ग़म-ए-दिल क्या करूँ, वहशत-ए-दिल क्या करूँ…मजाज़ के मिजाज को समझने की कोशिश की तलत महमूद ने

Amit
महफ़िल-ए-ग़ज़ल #८५ कुछ शायर ऐसे होते है, जो पहली मर्तबा में हीं आपके दिल-औ-दिमाग को झंकझोर कर रख देते हैं। इन्हें पढना या सुनना किसी...
Dil se Singer

कहीं शेर-ओ-नग़मा बन के….तलत साहब की आवाज़ में एक दुर्लभ गैर फ़िल्मी गज़ल

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 360/2010/60 ‘दस महकती ग़ज़लें और एक मख़मली आवाज़’, तलत महमूद पर केन्द्रित इस ख़ास पेशकश की अंतिम कड़ी में आपका...
Dil se Singer

यादों का सहारा न होता हम छोड के दुनिया चल देते….और चले ही तो गए तलत साहब

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 359/2010/59 ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ के सभी श्रोताओं व पाठकों को हमारी तरफ़ से होली की हार्दिक शुभकामनाएँ। इन दिनों ‘ओल्ड...