Tag : shradhanjali

Dil se Singer

एक सुरीला दौर जो बीतकर भी नहीं बीता -राजेश खन्ना

Sajeev
सुनिए काका को श्रद्धान्जली देने को तैयार किया गया हमारा खास पॉडकास्ट   मूल स्क्रिप्ट  यह पोडकास्ट समर्पित है हिन्दी फिल्मों के निर्विवादित पहले सुपरस्टार...
Dil se Singer

पार्श्वगायक मुकेश के जन्मदिवस पर विशेष प्रस्तुति

कृष्णमोहन
सावन का महीना और मुकेश का अवतरण हिन्दी फिल्मों में १९४१ से १९७६ तक सक्रिय रहने वाले मशहूर पार्श्वगायक स्वर्गीय मुकेश फिल्म-संगीत-क्षेत्र में अपनी उत्कृष्ठ...
Dil se Singer

"बुझ गई है राह से छाँव" – डॉ. भूपेन हज़ारिका को 'आवाज़' की श्रद्धांजलि (भाग-२)

Sajeev
ओल्ड इज़ गोल्ड – शनिवार विशेष – 68 भाग ०१ ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ के सभी श्रोता-पाठकों को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार! ‘शनिवार विशेषांक’...
Dil se Singer

बुझ गई है राह से छाँव – डॉ. भूपेन हज़ारिका को 'आवाज़' की श्रद्धांजलि

Sajeev
ओल्ड इज़ गोल्ड – शनिवार विशेष – 67बुझ गई है राह से छाँव – भाग ०१ ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ के सभी श्रोता-पाठकों को सुजॉय चटर्जी...
Dil se Singer

मिर्ज़ा ग़ालिब की 212वीं जयंती पर ख़ास

Amit
आज से 212 वर्ष पहले एक महाकवि का जन्म हुआ जिसकी शायरी को समझने में लोग कई दशक गुजार देते हैं, लेकिन मर्म समझ नहीं...
Dil se Singer

…और एक सितारा डूब गया….लेखक/निर्देशक अबरार अल्वी को अंतिम सलाम

Sajeev
“वो मेरे खासमखास सलीम आरिफ के चाचा थे, दरअसल फिल्मों में मेरे सबसे शुरूआती कामों में से एक उनकी लिखी हुई स्क्रिप्ट्स के लिए संवाद...
Dil se Singer

कवि हेमंत के शब्द और कुमार आदित्य की संगीत-संगत

Amit
पिछले सप्ताह आपने कुमार आदित्य विक्रम द्वारा स्वरबद्ध चाँद शुक्ला की एक ग़ज़ल का आनंद लिया। आदित्य में सूर्य की भाँति न खत्म होने वाली...
Dil se Singer

सफल 'हुई' तेरी आराधना – अंतिम कडी

Sajeev
अब तक आपने पढ़ा – आनंद आश्रम से शुरू हुआ सफ़र…., हावड़ाब्रिज से कश्मीर की कली तक… ,रोमांटिक फिल्मों के दौर में आराधना की धूम…,...
Dil se Singer

"ज़िंदगी तो बेवफ़ा है एक दिन ठुकराएगी – प्रकाश मेहरा को हिंद युग्म की श्रद्धांजली

Amit
एक नौजवान, नाकाम और हताश, मुंबई में मिली असफलताओं का बोझ दिल में लिए घर लौटने की तैयारी कर रहा था कि उसे एक युवा...
Dil se Singer

सफल 'हुई' तेरी आराधना…शक्ति सामंत पर विशेष (भाग 1)

Amit
ज़िन्दगी की आख़िरी सच्चाई है मृत्यु। जो भी इस धरती पर आता है, उसे एक न एक दिन इस फ़ानी दुनिया को छोड़ कर जाना...