Tag : Salil Chaudhari

Dil se Singer

राग भैरव : SWARGOSHTHI – 372 : RAG BHAIRAV

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 372 में आज राग से रोगोपचार – 1 : सुबह का राग भैरव उच्च रक्तचाप, सिरदर्द, चक्कर, ज्वर आदि रोगों के निदान में...
Dil se Singer

प्रातःकाल के राग : SWARGOSHTHI – 301 : MORNING RAGAS

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 301 में आज राग और गाने-बजाने का समय – 1 : दिन के प्रथम प्रहर के राग ‘जग उजियारा छाए, मन का अँधेरा...
Dil se Singer

चित्रकथा – 1: उस्ताद अब्दुल हलीम जाफ़र ख़ाँ का हिन्दी फ़िल्म-संगीत में योगदान

PLAYBACK
अंक – 1 उस्ताद अब्दुल हलीम जाफ़र ख़ाँ का हिन्दी फ़िल्म-संगीत में योगदान “मधुबन में राधिका नाची रे…” ‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के सभी श्रोता-पाठकों को...
Dil se Singer

‘सावन की रातों में ऐसा भी होता है…’ : SWARGOSHTHI – 179 : Raag Des Malhar & Jayant Malhar

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 179 में आज वर्षा ऋतु के राग और रंग – 5 : राग देस मल्हार और जयन्त मल्हार दो रागों के मेल से...
Dil se Singer

कोई होता मेरा अपना…..शोर के "जंगल" में कोई जानी पहचानी सदा ढूंढती जिंदगी

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 715/2011/155 ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ की एक और शाम लेकर मैं, सुजॉय चटर्जी, साथी सजीव सारथी के साथ हाज़िर हूँ। जैसा...
Dil se Singer

लागी नाहीं छूटे….देखिये अज़ीम कलाकार दिलीप साहब ने भी क्या तान मिलायी थी लता के साथ

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 632/2010/332 नमस्कार! ‘ओल्ड इज़ ओल्ड’ पर कल से हमनें शुरु की है लघु शृंखला ‘सितारों की सरगम’। पहली कड़ी में...
Dil se Singer

हु तू तू….भई घर गृहस्थी की नोंक झोंक भी तो किसी कबड्डी के खेल से कम नहीं है न…

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 609/2010/309 नमस्कार! ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ की एक और कड़ी के साथ हम हाज़िर हैं। इन दिनों विश्वकप क्रिकेट के उत्साह...
Dil se Singer

साथी रे…तुझ बिन जिया उदास रे….मानो या न मानो व्यावसायिक दृष्टि से ये होर्रर फ़िल्में दर्शकों को लुभाने में सदा कामियाब रहीं हैं

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 578/2010/278 ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ के सभी चाहनेवालों का इस सुरीली महफ़िल में बहुत बहुत स्वागत है। यह निस्संदेह सुरीली महफ़िल...
Dil se Singer

आजा री आ, निंदिया तू आ……कहाँ सुनने को मिल सकती है ऐसी मीठी लोरी आज के दौर में

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 541/2010/241 नमस्कार! दोस्तों, ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ की इस नई सप्ताह में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है। इन दिनों...
Dil se Singer

चील चील चिल्लाके कजरी सुनाए…..हास्य रस में सराबोर होकर सुनिए ये गीत, हंसिये, हंसायिये और खुश रहिये

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 494/2010/194 ‘रस माधुरी’ शृंखला की चौथी कड़ी में आप सभी का स्वागत है। ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ की इस लघु शृंखला...