Tag : sahir ludhayanvi

Uncategorized

“तू मुझे सुना मैं तुझे सुनाऊँ अपनी प्रेम कहानी…”, दो दोस्तों के इस गीत के बहाने ज़िक्र आनन्द बक्शी और यश चोपड़ा के दोस्ती की

PLAYBACK
एक गीत सौ कहानियाँ – 82  ‘तू मुझे सुना मैं तुझे सुनाऊँ अपनी प्रेम कहानी…‘  रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के सभी श्रोता-पाठकों को सुजॉय चटर्जी का...
Uncategorized

“तेरे प्यार का आसरा चाहता हूँ” – क्यों नहीं माने साहिर इस गीत की अवधि को छोटा करने के सुझाव को?

PLAYBACK
एक गीत सौ कहानियाँ – 41  ‘तेरे प्यार का आसरा चाहता हूँ…’ ‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के सभी श्रोता-पाठकों को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार।...
Uncategorized

अभिनेत्री नन्दा को श्रद्धांजलि आज ‘एक गीत सौ कहानियाँ’ में…

PLAYBACK
एक गीत सौ कहानियाँ – 26  ‘अल्लाह तेरो नाम, ईश्वर तेरो नाम…’ “मुझे अभी-अभी पता चला कि अभिनेत्री नन्दा, जिसे हम बेबी नन्दा कहते थे,...
Uncategorized

“नीले गगन के तले धरती का प्यार पले” – कैसे न बनती साहिर और रवि की सुरीली जोड़ी जब दोनों की राशी एक है!!

PLAYBACK
मशहूर गीतकार – संगीतकार जोड़ियों में साहिर लुधियानवी और रवि की जोड़ी ने भी फ़िल्म-संगीत के ख़ज़ाने को बेशकीमती रत्नों से समृद्ध किया है। कैसे...
Uncategorized

अब कोई गुलशन न उजड़े….एक आशावादी गीत आज के इस बदलते भारत की उथल पुथल में

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 730/2011/170 शृंखला ‘वतन के तराने’ की समापन कड़ी में मैं कृष्णमोहन मिश्र आपका हार्दिक स्वागत करता हूँ। दोस्तों, स्वतन्त्रता की...
Uncategorized

आगे भी जाने न तू….जब बदलती है जिंदगी एक पल में रूप अनेक तो क्यों न जी लें पल पल को

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 720/2011/160 सजीव सारथी के लिखे कविता-संग्रह ‘एक पल की उम्र लेकर‘ पर आधारित ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ की इसी शीर्षक से...
Uncategorized

जाने वो कैसे लोग थे जिनके प्यार को प्यार मिला….पूरी तरह पियानो पर रचा बुना एक अमर गीत

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 594/2010/294 ‘पियानो साज़ पर फ़िल्मी परवाज़’, इन दिनों ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ पर जारी है यह शृंखला, जिसमें हम आपको पियानो...
Uncategorized

तुझको पुकारे मेरा प्यार…..पुनर्जन्म के प्रेमी की सदा रफ़ी साहब के स्वरों में भीगी हुई

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 574/2010/274 ‘मानो या ना मानो’ शृंखला में पिछले तीन अंकों में हमने आपको बताया देश विदेश की कुछ ऐसी जगहों...
Uncategorized

देखी ज़माने की यारी, बिछड़े सभी बारी बारी…..शब्द कैफी के और और दर्द गुरु दत्त का

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 548/2010/248 गुरु दत्त के जीवन की कहानी इन दिनों आप पढ़ रहे हैं और उनकी कुछ महत्वपूर्ण फ़िल्मों के गानें...
Uncategorized

जाने क्या तुने कही, जाने क्या मैंने कही….और बनी बात बिगड गयी गीता और गुरु दत्त की

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 547/2010/247 ‘हिंदी सिनेमा के लौह स्तंभ’ – ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ की इस लघु शृंखला के चौथे व अंतिम खण्ड में...