Tag : rajendranath rahbar

Dil se Singer

महफ़िल-ए-ग़ज़ल की १००वीं कड़ी में जगजीत सिंह लेकर आए हैं राजेन्द्रनाथ रहबर की "तेरे खुशबू में बसे खत"

Amit
महफ़िल-ए-ग़ज़ल #१०० हंस ले ‘रहबर` वो आये हैं, रोने को तो उम्र पड़ी है राजेन्द्रनाथ ’रहबर’ साहब के इस शेर की हीं तरह हम भी...