Tag : Radio Salaam namaste

Dil se Singer

इस बार स्वरबद्ध कीजिए निराला की एक कविता को

Amit
गीतकास्ट प्रतियोगिता के दो अंकों का सफल आयोजन हो चुका है। जहाँ जयशंकर प्रसाद की कविता ‘अरुण यह मधुमय देश हमारा’ को 12 प्रविष्टियाँ प्राप्त...
Dil se Singer

जयशंकर प्रसाद की कविता का सुरबद्ध और संगीतबद्ध रूप (परिणाम)

Amit
गीतकास्ट प्रतियोगिता- परिणाम-1: अरुण यह मधुमय देश हमारा पिछले महीने जब महान कवियों की कविताओं को सुरबद्ध और संगीतबद्ध करने का विचार बना था, तो...
Dil se Singer

जयशंकर प्रसाद की कविता गाइए और जीतिए रु 2000 के नग़द इनाम

Amit
हिन्द-युग्म यूनिकवि एवं यूनिपाठक प्रतियोगिता के माध्यम से हिन्दी में लिखने-पढ़ने वालों का प्रोत्साहन पिछले 29 महीनों से करने का प्रयास कर रहा है। हिन्दी...
Dil se Singer

आदित्य प्रकाश की भाषा साधना, कवितांजलि तीसरे वर्ष में

Amit
हिन्दी भाषा तथा साहित्य की जितनी सेवा हिन्दी को उच्च-शिक्षा के दरम्यान विषय न रखने वाले हिन्दी-प्रेमियों ने की है, उतनी शायद हिन्दी साहित्य में...
Dil se Singer

जब अनुराग बोले रेडियो से

Amit
अनुराग शर्मा अनुराग शर्मा आवाज़ और हिन्द-युग्म पर बहुत जाना-पहचाना नाम है। कहानी-वाचन के लिए ये आवाज़ के श्रोताओं के दिलों में अपनी ख़ास जगह...
Dil se Singer

लक्ष्य छोटे हों या बड़े, पूरे होने चाहिए- शैलेश भारतवासी

Amit
डैलास, अमेरिका के एफ॰एम॰ रेडियो चैनल ‘रेडियो सलाम नमस्ते’ को दिये गये अपने साक्षात्कार में हिन्द-युग्म के संस्थापक-नियंत्रक शैलेश भारतवासी ने कहा कि किसी व्यक्ति...
Dil se Singer

आलोक शंकर का रेडियो काव्यपाठ

Amit
भारतीय समयानुसार २ जून २००८ की सुबह ८ बजे डैलास, अमेरिका के हिन्दी एफ॰एम॰ रेडियो सलाम नमस्ते पर हिन्द-युग्म के प्रथम यूनिकवि आलोक शंकर का...
Dil se Singer

मातृ दिवस पर गौरव सोलंकी और विपुल शुक्ला का काव्य-पाठ

Amit
डैलास, अमेरिका के हिन्दी एफ॰एम॰ चैनल रेडियो सलाम नमस्ते के कार्यक्रम में 11 मई 2008 की रात्रि 9 बजे (भारतीय समयानुसार 12 मई 2008 की...
Dil se Singer

अनुपमा चौहान का साक्षात्कार (Interview of Anupama Chauhan)

Amit
धीरे-धीरे हिन्द-युग्म की आवाज़ें रेडियो के श्रोताओं तक भी पहुँचने लगी हैं। रेडियो सलाम नमस्ते से जुड़े श्री आदित्य प्रकाश जी ने जब युग्म के...
Dil se Singer

रंजना भाटिया, निखिल आनंद गिरि, सुनीता 'शानू', मनीष वंदेमातरम्, शैलेश भारतवासी की बातें और काव्य-पाठ

Amit
हिन्द-युग्म की टीम विश्व पुस्तक मेला २००८ से मधुरतम समय निकाले तो शायद अभिनव शुक्ल से जुड़ी बातें उनमें से एक होंगी। मेले के पहले...