Tag : naksh lyalpuri

Dil se Singer

“कई सदियों से, कई जनमों से…”, केवल 24 घण्टे के अन्दर लिख, स्वरबद्ध और रेकॉर्ड होकर पहुँचा था सेट पर यह गीत

PLAYBACK
एक गीत सौ कहानियाँ – 80  ‘कई सदियों से, कई जनमों से…‘  रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के सभी श्रोता-पाठकों को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार।...
Dil se Singer

“रस्म-ए-उल्फ़त” के बाद और कोई गाना मत बजाना

PLAYBACK
एक गीत सौ कहानियाँ – 33  ‘रस्म-ए-उल्फ़त को निभायें तो निभायें कैसे...’ ‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के सभी श्रोता-पाठकों को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार!...
Dil se Singer

मैं तो हर मोड पे तुझको दूंगा सदा….दिलों के बीच उभरी नफरत की दीवारों को मिटाने की गुहार

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 712/2011/152 ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ में कल से हमने शुरु की है सजीव सारथी की लिखी कविताओं की किताब ‘एक पल...
Dil se Singer

बदरा छाए रे, कारे कारे अरे मितवा…कभी कभी खराब फिल्मांकन अच्छे खासे गीत को ले डूबते हैं

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 515/2010/215 ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ के दोस्तों, नमस्कार! इन दिनों जारी है लघु शृंखला ‘गीत गड़बड़ी वाले’, और इसमें अब तक...
Dil se Singer

अहले दिल यूँ भी निभा लेते हैं….नक्श साहब का कलाम और लता की पुरकशिश आवाज़

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 453/2010/153 ख़य्याम साहब एक ऐसे संगीतकार रहे जिन्होने ना केवल अपने संगीत के साथ कभी कोई समझौता नहीं किया, बल्कि...
Dil se Singer

ज़िंदगी किस मोड़ पर लाई मुझे…पूछते हैं तलत साहब नक्श की इस गज़ल में

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 353/2010/53 यह है ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ की महफ़िल और आप इन दिनों इस पर सुन रहे हैं तलत महमूद साहब...
Dil se Singer

रस्म-ए-उल्फ़त को निभायें तो निभायें कैसे- लता का सवाल, नक्श ल्यालपुरी का कलाम

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 121 लता मंगेशकर की आवाज़ में मदन मोहन के संगीत से सजी हुई ग़ज़लें हमें एक अलग ही दुनिया में...