Tag : kamal rajasthani

Dil se Singer

ये बात मैं कैसे भूल जाऊँ कि हम कभी हमसफ़र रहे हैं….."बख्शी" साहब और "अनवर" की अनोखी जुगलबंदी

Amit
महफ़िल-ए-ग़ज़ल #४७ अमूमन तीन या चार कड़ियों से हमारी प्रश्न-पहेली का हाल एक-सा है। तीन प्रतिभागी (नाम तो सभी जानते हैं) अपने जवाबों के साथ...