Tag : kaise chhupaaoon raaz-e-gham

Dil se Singer

कैसे छुपाऊँ राज़-ए-ग़म…आज की महफ़िल में पेश हैं "मौलाना" के लफ़्ज़ और दर्द-ए-"अज़ीज़"

Amit
महफ़िल-ए-ग़ज़ल #३५ पिछली महफ़िल में किए गए एक वादे के कारण शरद जी की पसंद की तीसरी गज़ल लेकर हम हाज़िर न हो सके। आपको...