Tag : hemant

Dil se Singer

दिन के चौथे प्रहर के कुछ आकर्षक राग

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 106 में आज राग और प्रहर – 4 गोधूली बेला के श्रम-परिहार करते राग ‘स्वरगोष्ठी’ के 106ठें अंक में, मैं कृष्णमोहन मिश्र आप...
Dil se Singer

वो बुतखाना, ये मयखाना सब धोखा है…

Amit
भोपाल शहर की एक अलसाई सी दोपहर, एक सूनी गली का आखिरी मकान जहाँ जमा हैं “मार्तण्डया” संगीत समूह के सभी संगीत सदस्य. फिज़ा में...
Dil se Singer

मैं इबादत करूँ…या मोहब्बत करूँ…..

Amit
दूसरे सत्र के सोलहवें गीत का विश्वव्यापी उदघाटन आज – सूफी संगीत की मस्ती का आलम कुछ अलग ही होता है. आज आवाज़ पर हम...