Tag : FIMON KE ANGAN MEN THUMAKATI PARAMPARIK THUMARI

Dil se Singer

ठुमरी भैरवी : SWARGOSHTHI – 343 : THUMARI BHAIRAVI

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 343 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 10 : ठुमरी भैरवी नारी-कण्ठ पर सुशोभित ठुमरी : ‘रस के भरे...
Dil se Singer

ठुमरी सिन्धु भैरवी और किरवानी : SWARGOSHTHI – 342 : THUMARI SINDHU BHAIRAVI & KIRVANI

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 342 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 9 : ठुमरी सिन्धु भैरवी और किरवानी विरहिणी नायिका की व्यथा –...
Dil se Singer

ठुमरी पीलू और देश : SWARGOSHTHI – 341 : THUMARI PILU & DESH

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 341 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 8 : ठुमरी पीलू और देश दो भिन्न रागों में श्रृंगार रस...
Dil se Singer

ठुमरी भैरवी : SWARGOSHTHI – 340 : THUMARI BHAIRAVI

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 340 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 7 : ठुमरी भैरवी पण्डित भीमसेन और सहगल के स्वर में लौकिक...
Dil se Singer

ठुमरी भैरवी, खमाज और अड़ाना : SWARGOSHTHI – 339 : THUMARI BHAIRAVI, KHAMAJ & ADANA

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 339 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 6 : ठुमरी भैरवी, खमाज और अड़ाना तीन भिन्न रागों में रसूलन...
Dil se Singer

ठुमरी भैरवी : SWARGOSHTHI – 338 : THUMARI BHAIRAVI

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 338 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 5 : ठुमरी भैरवी लता जी के जन्मदिन के उपलक्ष्य में समर्पित...
Dil se Singer

ठुमरी खमाज और पहाड़ी : SWARGOSHTHI – 337 : THUMARI KHAMAJ & PAHADI

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 337 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 4 : ठुमरी खमाज और पहाड़ी “कौन गली गयो श्याम…” – श्रृंगार...
Dil se Singer

ठुमरी भैरवी : SWARGOSHTHI – 336 : THUMARI BHAIRAVI

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 336 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 3 : ठुमरी भैरवी श्रृंगार रस की ठुमरी को मन्ना डे ने...
Dil se Singer

भैरवी दादरा : SWARGOSHTHI – 335 : BHAIRAVI DADARA

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 335 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 2 : भैरवी दादरा उस्ताद फ़ैयाज़ खाँ का गाया दादरा जब मन्ना...
Dil se Singer

ठुमरी झिझोटी : SWARGOSHTHI – 334 : THUMARI JHINJHOTI

कृष्णमोहन
स्वरगोष्ठी – 334 में आज फिल्मों के आँगन में ठुमकती पारम्परिक ठुमरी – 1 : “पिया बिन नाहीं आवत चैन…” जब सहगल ने उस्ताद अब्दुल...