Tag : farida khannum

Dil se Singer

खुशबू उड़ाके लाई है गेशु-ए-यार की.. अपने मियाँ आग़ा कश्मीरी के बोलों में रंग भरा मुख्तार बेग़म ने

Amit
महफ़िल-ए-ग़ज़ल #७० हमने अपनी महफ़िल में इस मुद्दे को कई बार उठाया है कि ज्यादातर शायर अपनी काबिलियत के बावजूद पर्दे के पीछे हीं रह...
Dil se Singer

आज जाने की जिद न करो……… महफ़िल-ए-गज़ल में एक बार फिर हाज़िर हैं फ़रीदा खानुम

Amit
महफ़िल-ए-ग़ज़ल #३८ १४अगस्त को गोकुल-अष्टमी और १८ अगस्त को गुलज़ार साहब के जन्मदिवस के कारण आज की महफ़िल-ए-गज़ल पूरे डेढ हफ़्ते बाद संभव हो पाई...