Tag : dil padosi hai

Dil se Singer

“सातों बार बोले बंसी” और “जाने दो मुझे जाने दो” जैसे नगीनों से सजी है आज की “गुलज़ार-आशा-पंचम”-मयी महफ़िल

PLAYBACK
कहकशाँ – 24 गुलज़ार, पंचम और आशा ’दिल पड़ोसी है’ में   “दिल पड़ोसी है, मगर मेरा तरफ़दार नहीं…” ’रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के सभी दोस्तों को...
Dil se Singer

अपने पडो़सी दिल से भीनी-भीनी भोर की माँग कर बैठे गोटेदार गुलज़ार साहब, आशा जी एवं राग तोड़ी वाले पंचम दा

PLAYBACK
कहकशाँ – 23 गुलज़ार, पंचम और आशा ’दिल पड़ोसी है’ में   “भीनी भीनी भोर आई…” ’रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के सभी दोस्तों को हमारा सलाम! दोस्तों,...
Dil se Singer

"सातों बार बोले बंसी" और "जाने दो मुझे जाने दो" जैसे नगीनों से सजी है आज की "गुलज़ार-आशा-पंचम"-मयी महफ़िल

Amit
महफ़िल-ए-ग़ज़ल #११० बाद मुद्दत के फिर मिली हो तुम,ये जो थोड़ी-सी भर गई हो तुम,ये वज़न तुम पर अच्छा लगता है.. अभी कुछ दिनों पहले...
Dil se Singer

अपने पडो़सी दिल से भीनी-भीनी भोर की माँग कर बैठे गोटेदार गुलज़ार साहब, आशा जी एवं राग तोड़ी वाले पंचम दा

Amit
महफ़िल-ए-ग़ज़ल #१०९ गुलज़ार और पंचम – ये दो नाम दो होते हुए भी एक से लगते हैं और जब भी इन दोनों का नाम साथ...