Tag : vasant desai

Uncategorized

डर लागे गरजे बदरिया —- भरत व्यास को उनकी पुण्यतिथि पर याद किया आवाज़ परिवार ने कुछ इस तरह

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 432/2010/132 नमस्कार दोस्तों। आज ५ जुलाई, गीतकार भरत व्यास जी का स्मृति दिवस है। भरत व्यास जी ने अपने करीयर...
Uncategorized

सांझ ढले गगन तले….एक उदास अकेली शाम की पीड़ा वसंत देसाई के शब्दों में

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 374/2010/74 अस्सी के दशक के फ़िल्मी गीतों के ज़िक्र से कुछ लोग अपना नाक सिकुड़ लेते हैं। यह सच है...
Uncategorized

बोले रे पपिहरा, नित मन तरसे….वाणी जयराम की मधुर तान

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 227 हालाँकि शास्त्रीय राग संख्या में अजस्र हैं, लेकिन फिर भी शास्त्रीय संगीत के दक्ष कलाकार समय समय पर नए...
Uncategorized

अखियाँ भूल गयी हैं सोना….सोने सा चमकता है ये गीत आज ५० सालों के बाद भी

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 84 आज ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ में एक बहुत ही ख़ुशनुमा, चुलबुला सा, गुदगुदाने वाला गीत लेकर हम हाज़िर हुए हैं।...
Uncategorized

ओ दिलदार बोलो एक बार, क्या मेरा प्यार पसंद है तुम्हें…कवि प्रदीप का एक गीत ये भी…

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 70 ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ की ७०-वीं कड़ी में आप सभी का स्वागत है। सुरीले फ़िल्म संगीत का यह सफ़र पिछले...
Uncategorized

तेरे सुर और मेरे गीत…दोनों मिलकर बनेगी प्रीत…

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 33 सुर संगीतकार का क्षेत्र है तो गीत गीतकार का. एक अच्छा सुरीला गीत बनने के लिए सुर और गीत,...
Uncategorized

टिम टिम टिम तारों के दीप जले…

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 08 ‘ओल्ड इस गोल्ड’ में आज बारी है एक सदाबहार युगल गीत को सुनने की. दोस्तों, फिल्मकार वी शांताराम और...