Tag : sudeep yashraj

Uncategorized

दिल को बहलाना है, इस तरह या उस तरह…

Amit
इश्क हो या दुनिया की चाहत, अक्सर वो नसीब नही होता जिसको पाने की आरजू होती है. जिंदगी चलती रहती है, बहती रहती है. पर...
Uncategorized

वो पीपल का पत्ता, है अब भी अकेला…

Amit
दूसरे सत्र के छठे गीत का विश्वव्यापी उदघाटन आज. आज हम अपने संगीत प्रेमियों के समक्ष लेकर आए हैं, एक और ताज़ी आवाज़, सुदीप यशराज...