Tag : shevan rizvi

Uncategorized

हर शाम शाम-ए-ग़म है, हर रात है अँधेरी…शेवन रिज़वी का दर्द और तलत का अंदाज़े बयां

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 356/2010/56 ‘दस महकती ग़ज़लें और एक मख़मली आवाज़’ की आज की कड़ी में फिर एक बार शायर शेवन रिज़्वी का...
Uncategorized

गर तेरी नवाज़िश हो जाए…अंदाज़े मुहब्बत और आवाजे तलत

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 354/2010/54 ‘दस महकती ग़ज़लें और एक मख़मली आवाज़’ शृंखला की यह है चौथी कड़ी। १९५४ में तलत महमूद के अभिनय...
Uncategorized

यार बादशाह…यार दिलरुबा…कातिल आँखों वाले….

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 10 ओ पी नय्यर. एक अनोखे संगीतकार. आशा भोसले को आशा भोंसले बनाने में ओ पी नय्यर के संगीत का...