Tag : recitaion

Uncategorized

तेरी नज्म से गुजरते वक्त खदशा रहता है…

Amit
चाहे बात हो गुलज़ार साहब की या जिक्र छिड़े अमृता प्रीतम का, एक नाम सभी हिन्दी चिट्टाकारों के जेहन में सहज ही आता है- रंजना...