Tag : raat ke raahi tham mat jaana

Uncategorized

रात के राही थम न जाना….लता की पुकार, साहिर के शब्दों में

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 218 ‘मेरी आवाज़ ही पहचान है’ शृंखला की आज की कड़ी में लता जी के जिस दुर्लभ नग़मे की बारी...