Tag : parag sankla

Uncategorized

रविवार सुबह की कॉफी और कुछ दुर्लभ गीत (२३)

Sajeev
मखमली आवाज़ के जादूगर तलत महमूद साहब को संगीत प्रेमी अक्सर याद करते है उनकी दर्द भरी गज़लों के लिए. उनके गाये युगल गीत उतने...
Uncategorized

ए री मैं तो प्रेम दीवानी….मीरा के रंग रंगी गीता दत्त की आवाज़

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 271 २३ नवंबर १९३०। स्थान बंगाल का फ़रीदपुर, जो आज बंगलादेश का हिस्सा है। एक ज़मीनदार परिवार में जन्म हुआ...
Uncategorized

रविवार सुबह की कॉफी और कुछ दुर्लभ गीत (१९) फिल्म गीतकार शृंखला भाग १

Sajeev
जब फ़िल्मी गीतकारों की बात चलती है तो कुछ गिनती के नाम ही जेहन में आते हैं, पर दोस्तों ऐसे अनेकों गीतकार हैं, जिनके नाम...
Uncategorized

रविवार सुबह की कॉफी और कुछ दुर्लभ गीत (10)

Sajeev
पराग सांकला जी से हमारे सभी नियमित श्रोता परिचित हैं. इन्हें हम आवाज़ पर गीता दत्त विशेषज्ञ कहते हैं, सच कहें तो इनके माध्यम से...
Uncategorized

रविवार सुबह की कॉफी और कुछ दुर्लभ गीत (5)

Amit
पराग संकला से हमारे श्रोता परिचित हैं, आप गायिका गीता दत्त के बहुत बड़े मुरीद हैं और उन्हीं की याद में गीता दत्त डॉट कॉम...
Uncategorized

असली गीता दत्त की खोज में…

Amit
जब मैं गीता दत्त के गाने सुनता हूँ तब दुविधा में पड़ जाता हूँ. “मैं तो गिरिधर के घर जाऊं” गानेवाली वो ही गायिका हैं...