Tag : kerva je fadela..

Uncategorized

केरवा जे फरेला घवद से : सुनिए छठ के अवसर पर ये लोक गीत

Amit
आज छठ पर्व है। इन पंक्तियों के लिखे जाने तक श्रृद्धालु डूबते सूरज को अर्घ्य दे चुके होंगे और कल भोर में दूसरा अर्घ्य उगते...