Tag : bimal roy

Uncategorized

अब के बरस भेज भैया को बाबुल….एक अमर गीत एक अमर फिल्म से

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 178 शरद तैलंग जी के पसंद पर कल आप ने फ़िल्म ‘विद्यापति’ का गीत सुना था लता जी की आवाज़...
Uncategorized

छोटा सा घर होगा बादलों की छाँव में….सपनों को पंख देती किशोर कुमार की आवाज़

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 163 प्रोफ़. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम ने कहा है कि “Dream is not something that we see in sleep;...
Uncategorized

हरियाला सावन ढोल बजाता आया….मानसून की आहट पर कान धरे है ये मधुर समूहगान

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 91 ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’ के लिए आज हम एक बड़ा ही अनोखा समूहगान लेकर आये हैं। सन् १९५३ में बिमल...
Uncategorized

जब से मिली तोसे अखियाँ जियरा डोले रे…हो डोले…हो डोले…हो डोले…

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 13 दोस्तों नमस्कार! ‘ओल्ड इस गोल्ड’ के एक और कडी के साथ हम हाज़िर हैं. आशा है आप हर रोज़...
Uncategorized

तू जिन्दा है तो जिंदगी की जीत में यकीन कर

Amit
अमर गीतकार और कवि शैलेन्द्र की ४२वीं पुण्यतिथि पर विशेष “अपने बारे में लिखना कोई सरल काम नही होता. किंतु कोई आदमी फंस जाए तो...
Uncategorized

मोरा गोरा अंग लेई ले….- गुलज़ार, एक परिचय

Amit
गुलज़ार बस एक कवि हैं और कुछ नही, एक हरफनमौला कवि, जो फिल्में भी लिखता है, निर्देशन भी करता है, और गीत भी रचता है,...