Tag : artist of hind yugm

Uncategorized

"इन हाथों की ताज़ीम करो…"- अली सरदार जाफरी के बोल और शुभम् का संगीत

Amit
आवाज़ पर इस सप्ताह हमने आपको मिलवाया कुछ ऐसे फनकारों से जो यूँ तो आवाज़ और हिंद युग्म से काफी लम्बे समय से जुड़े हुए...
Uncategorized

भीग गया मन- हरिहर झा की संगीतबद्ध कविता

Amit
नये गीतों, नई संगीतबद्ध कविताओं को सुनवाने का सिलसिला हमने बंद नहीं किया है। अभी ३ दिन पहले ही आपने शिशिर पारखी की आवाज़ में...
Uncategorized

"आज बिरज में होरी रे रसिया…."- लीपिका भट्टाचार्य की आवाज़ में सुनिए "होरी" गीत

Amit
सभी पाठकों और श्रोताओं को होली की शुभकामनायें. आज होली के अवसर पर आवाज़ पर भी कुछ बहुत ख़ास है आपके लिए. इस शुभ दिन...
Uncategorized

"तुझमें रब दिखता है…" रफीक ने दिया इस गीत को एक नया रंग

Amit
युग्म पर लोकप्रिय गीतों का चुनाव जारी है, कृपया इसे अचार संहिता का उल्लंघन न मानें. 🙂 रफीक शेख दूसरे सत्र के गायकों में सबसे...
Uncategorized

ख्याल-ए-यार सलामत तुझे खुदा रखे…जिगर मुरादाबादी की ग़ज़ल और शिशिर की आवाज़

Amit
पुणे के शिशिर पारखी हालाँकि हमारे नए गीतों से प्रत्यक्ष रूप से नहीं जुड़ सके पर श्रोताओं को याद होगा कि उनके सहयोग से हमने...