Tag : anand bakshi

Uncategorized

समाँ है सुहाना सुहाना नशे में जहाँ है….जहाँ किशोर की आवाज़ गूंजे वहां ऐसा क्यों न हो

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 165 पिछ्ले तीन दिनों से आप किशोर दा की आवाज़ में सुन रहे हैं जीवन के कुछ ज़रूरी और थोड़े...
Uncategorized

एक हजारों में मेरी बहना है…रक्षा बंधन पर शायद हर भाई यही कहता होगा…

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 162 “कभी भ‍इया ये बहना न पास होगी, कहीं परदेस बैठी उदास होगी, मिलने की आस होगी, जाने कौन बिछड़...
Uncategorized

ये रेशमी जुल्फें ये शरबती ऑंखें…काका बाबू डूबे तारीफों में तो काम आई रफी साहब की आवाज़

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 160 मोहम्मद रफ़ी साहब के गीतों से सजी इस ख़ासम ख़ास शृंखला ‘दस चेहरे एक आवाज़ – मोहम्मद रफ़ी’ के...
Uncategorized

मेरे महबूब क़यामत होगी….दर्द और वहशत में डूबी किशोर की आवाज़

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 79 गीतकार – संगीतकार जोड़ियों की जब बात चलती है तो आनंद बक्शी और लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल की जोड़ी उसमें एक ख़ास...
Uncategorized

सफल "हुई" तेरी अराधना…शक्ति सामंत पर विशेष (भाग 3)

Amit
दोस्तों, शक्ति सामंत के फ़िल्मी सफ़र को तय करते हुए पिछली कड़ी में हम पहुँच गए थे सन् १९६५ में जिस साल आयी थी उनकी...
Uncategorized

सुनिए सपन चक्रवर्ती की आवाज़ में एक दुर्लभ होली गीत

Sajeev
ओल्ड इस गोल्ड शृंखला # 20 होली विशेषांक आवाज़ के आप सभी पाठकों और श्रोताओं को रंगों के इस त्यौहार होली पर हमारी ओर से...
Uncategorized

मैं शायर बदनाम, महफिल से नाकाम

Amit
(पिछली कड़ी से आगे…)बक्षी साहब ने फ़िल्म मोम की ‘गुड़िया(1972)’ में गीत ‘बाग़ों में बहार आयी’ लता जी के साथ गाया था। इस पर लता...
Uncategorized

जिसके गीतों ने आम आदमी को अभिव्यक्ति दी – आनंद बख्शी

Amit
आनन्द बक्षी यह वह नाम है जिसके बिना आज तक बनी बहुत बड़ी-बड़ी म्यूज़िकल फ़िल्मों को शायद वह सफलता न मिलती जिनको बनाने वाले आज...
Uncategorized

वो जब याद आए बहुत याद आए…

Amit
जब सोनू निगम ने जलाए गीतों के दीप एल पी के लिए हिन्दी फ़िल्म संगीत के सबसे सफलतम संगीत जोड़ी के लक्ष्मीकांत और प्यारेलाल का...