Uncategorized

मम्मी-पापा

बच्चो,

आज बाल-उद्यान की कविता के पॉडकास्ट के रूप में हम लेकर हाज़िर हैं डॉ॰ अनिल चड्डा की कविता ‘मम्मी-पापा’ लेकर। यह कविता जिसकी आवाज़ में है ना, उसकी आवाज़ आप पहले भी सुन चुके हैं, लेकिन आज उसने अपना अंदाज़ बदला है। बस आपको अंदाज़ा लगाकर बताना है कि आवाज़ किसकी है। सुनकर बताएँ ज़रा॰॰॰॰

नीचे ले प्लेयर से सुनें.

(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंकों से डाऊनलोड कर लें (ऑडियो फ़ाइल तीन अलग-अलग फ़ॉरमेट में है, अपनी सुविधानुसार कोई एक फ़ॉरमेट चुनें)

VBR MP3
64Kbps MP3
Ogg Vorbis

सभी बाल-रचनाएँ सुनने के लिए क्लिक करें।

# Baal-Kavita ‘Mummy-Papa’ of Dr. Anil Chadda, # Voice- *******

Related posts

बेदर्द मैंने तुझको भुलाया नहीं हनोज़… कुछ इस तरह जोश की जिंदादिली को स्वर दिया मेहदी हसन ने

Amit

रौशन दिल, बेदार नज़र दे या अल्लाह…इसी दुआ के साथ लता दीदी को जन्मदिन की हार्दिक बधाई

Amit

सर्दी की धूप में फुरसत का दिन और कविताओं की चुस्की

Amit