Uncategorized

सुनिए बाल-कविता 'गिलहरी का घर'

आवाज़ पर बहुत दिनों से हम आपको कोई बाल-कविता नहीं सुनवा पाये थे, क्योंकि मीनू आंटी इन दिनों छुट्टी पर हैं।
लेकिन बच्चों के लिए यह काम करने का जिम्मा नीलम मिश्रा जी ने भी स्वीकारा है। नीलम आंटी बतौर अपने पहला प्रयास डॉ॰ हरिवंश राय बच्चन की कविता ‘गिलहरी का घर’ लेकर आई हैं। तो आप सुनिए, अपने घर के बच्चों को सुनवाइए और हमें बताइए कि कैसा लगा।

value=”transparent”>

Related posts

शहर अमरुद का है ये, शहर है इलाहाबाद…..पियूष मिश्रा ने एक बार फिर साबित किया अपना हुनर

Sajeev

ये दूरियाँ ….मिटा रहा है कमियाबी से मोहित चौहान की दूरियाँ

Sajeev

पड़े बरखा फुहार, करे जियरा पुकार….इंदु जी और पाबला जी के जीवन से जुड़ा एक खास गीत

Sajeev