Philosophy

न्यू ईयर रिजॉल्यूशन और सर्दियों की बातें शरद कोकस के साथ

आने वाले साल में हम ऐसा क्या करने वाले हैं जो हमने पिछले साल नहीं किया या अब तक नहीं किया ? क्या हम सिर्फ योजना बनाते हैं या उन पर क्रियान्वयन भी करते हैं ?आइए इस बात पर विचार मंथन करें ।

Speakers: Sharad Kokas, Pragya Mishra, Vidya naidu

https://open.spotify.com/episode/0Dmdy4GOpeETANAsswCJgy?si=nl9tSU-eSyOG77Q-_WXKvw

बीते हुए साल में क्या खुशियां मिली ? क्या दुख मिले ? कौन मिला कौन बिछड़ा ? क्या नया काम किया? क्या पुराना भूल गए ?आइये इन बातों पर चर्चा करते हैं

Speakers: Sharad Kokas, Pragya Mishra, DrVasudha Mishra, Piyush Goel

https://open.spotify.com/episode/1XegZF8qLhpPQdN0UHj2MC?si=JV6vra28SQqa_63IQ5f0lw

जाड़ों के दिनो में घर से बाहर निकलने का मन नहीं होता लेकिन स्वादिष्ट भोजन का मन होता है, शादियों में जाने का मन होता है । जाड़ों में मन और पेट के संबंध पर एक गपशप।

Speakers: Sharad Kokas, DrVasudha Mishra

https://open.spotify.com/episode/21LgKVdhnSarkhkpUaB7tz?si=H1UCsY6aQLydV3I-RyTPfg

सर्दियों के दिनों में मन में अजीब विचार आते हैं भौतिक ठंडेपन लेकर रिश्तों के ठंडेपन तक कई धारणाएं व्याप्त हो जाती हैं । इन्हीं पर बात करेंगे इस सर्किल में

Speakers: Sharad Kokas, DrVasudha Mishra, Surekha Agarwal, Ashok Dua

https://open.spotify.com/episode/4fTurzRuP2oBxWbcJTZTPJ?si=bkErrL2RS4WrPMLjviIKZw

Related posts

मन हिंदी है : मन मशीन

Sajeev Sarathie

दिनकर साहित्य चर्चा : भाग 2

Sajeev Sarathie

दिल पे तीर वाले इमोजी का अविष्कार : मन मशीन

Sajeev Sarathie

Leave a Comment