Literature विविध

हिंदी ताके बाट, मगर किसकी ?

https://open.spotify.com/episode/7FLv1vS9gvna7ZEy8U0Q5g?si=ODuMUmK6TRehFJdithrWOQ&utm_source=copy-link

उक्त शीर्षक अनुपम चितकारा जी द्वारा चयनित है, यह उनकी नई रचना का शीर्षक है। “हिंदी ताके बाट” सामयिक और रोचक है । इस विषय पर शरद कोकास, वसुधा मिश्रा, प्रज्ञा मिश्र ,अनुपम चितकारा के मतों से अवगत होने के लिए आप आमंत्रित हैं।यह वार्ता हिंदी की दशा दिशा और भविष्य पर सारगर्भित चर्चा छात्र छात्राओं को निबंध लेखन में भी मदद करेगी साथ ही हिंदी के प्रति समाज में सोच विचार की चेतना का संचार करेगी।लेखिका अनुपम चितकारा जी की मौलिक कृति “हिंदी ताके बाट” कहानी नेशनल राइटिंग प्रतियोगिता में next big writer की खोज में दौड़ का हिस्सा है। इस विषय पर हम एक चर्चा रख रहे हैं ताकी इस के बारे में आप जानें और लेखन प्रतियोगिता में अव्वल आने में अनुपम की मदद करें।

Speakers: Pragya Mishra, DrVasudha Mishra, Anupam Chitkara, Sharad Kokas.

हम सब के पास होती हैं ढेरों बातें, ढेरों किस्से और कहानियां, बांटे यही कहानियां हमारे Mentza app पर, जहां 20 मिनट की लाइव बातचीत के माध्यम से आप रच सकते हैं अपना खुद का पॉडकास्ट जिसे दुनिया सुनेगी Spotify और दूसरे पॉडकास्ट चैनलों पर, तो आज ही Mentza app डाउनलोड करें और हमारी हिंदी रेडियो प्लेबैक इंडिया कम्यूनिटी ज्वाइन करें, बस फिर क्या ?
दिल खोल के बोल, हिंदी में बोल।
Download Mentza and Join us on
Share your stories, Pick people’s brains!
Link: https://on.mentza.com/communities/87

Related posts

क्यों नहीं रख पाती महिलाएं अपनी सेहत का ध्यान

Sajeev Sarathie

भारत इंग्लैंड टेस्ट सिरीज़

Sajeev Sarathie

Is ODI cricket is in Danger?

Sajeev Sarathie

Leave a Comment