एक गीत सौ अफ़साने

फूल तुम्हें भेजा है खत में

वर्ष1968 की चर्चित फ़िल्म ’सरस्वतीचन्द्र’ का गीत “फूल तुम्हें भेजा है ख़त में”। लता मंगेशकर और मुकेश की आवाज़ें, इन्दीवर के बोल, और कल्याणजी-आनन्दजी का संगीत। कैसे प्रेमपत्र कल्याणजी-आनन्दजी के घर पर आया था? क्या लिखा था उसमें? इन्दीवर ने उस पत्र को देख कर क्या कहा? गीत तैयार होने पर कल्याणजी-आनन्दजी के मन में कैसी शंका पैदा हुई और उनकी शंका का निवारण कैसे हुआ? इस फ़िल्म को उस साल कौन-कौन से पुरस्कार मिले थे? ये सब, आज के अंक में।

https://open.spotify.com/episode/6n8rHhsvdWTEBgftdWt2iX?si=apvNrvgGTA-wU0jYUCu3Ug&utm_source=copy-link

Related posts

Fir Mujhe Deeda-E-Tar Yaad Aaya | Ek Geet Sau Afsane

Sajeev Sarathie

Mere to Giridhar Gopal | Ek Geet Sau Afsane

Sajeev Sarathie

सात अजूबे इस दुनिया में आठवीं अपनी जोड़ी

Sajeev Sarathie

Leave a Comment