Philosophy

Travel light: जो ज़रूरी नहीं उसे छोड़ दें

ज़िंदगी भी तो एक सफर ही है, एक यात्रा जिसमें हम सब मुसाफिर हैं, अक्सर हम कोशिश करते हैं कि सफर में हम कम से कम सामान साथ लेकर चलें, ताकि सफर का अधिकतम आनंद ले सकें, तो क्यों न यही सिद्धांत जिंदगी पर भी लागू करें, क्यों इतना कुछ लादे रखें हम अपने कधों पर, अपने जेहन पर ? जो जरूरी नहीं है उसे छोड़ क्यों नहीं देते ? आइए जानें कि कैसे जीवन के इस सफर को सरल और हल्का रखा जाए, इस पॉडकास्ट में ।

हम सब के पास होती हैं ढेरों बातें, ढेरों किस्से और कहानियां, बांटे यही कहानियां हमारे Mentza app पर, जहां 20 मिनट की लाइव बातचीत के माध्यम से आप रच सकते हैं अपना खुद का पॉडकास्ट जिसे दुनिया सुनेगी Spotify और दूसरे पॉडकास्ट चैनलों पर, तो आज ही Mentza app डाउनलोड करें और हमारी हिंदी रेडियो प्लेबैक इंडिया कम्यूनिटी ज्वाइन करें, बस फिर क्या ? दिल खोल के बोल, हिंदी में बोल। Download Mentza and Join us on Share your stories, Pick people’s brains!Link: https://on.mentza.com/communities/87

https://open.spotify.com/episode/2ffTdNMj2VOkhPVPuiaMVx?si=-umR3En8RzKbVYbGZfBS-A&utm_source=copy-link

Related posts

न कहना सीखिए

Sajeev Sarathie

लौटाएं प्यार और सम्मान माता पिता को

Sajeev Sarathie

Let’s Restart: It works

Sajeev Sarathie

Leave a Comment