Kahani buno

काश हम जुदा न होते | कहानी बुनो

किसी अपने की जुदाई की टीस वो ही महसूस कर सकता है जिस पर ये गुजरी हो। उसकी यादें और साथ बिताये पल याद करके दिल से यही अवाज आती है कि काश! हम जुदा न होते। इसी विषय पर सुनिये आज की ये खूबसूरत कहानी। ऐसी ही और कहानियों को लाइव सुनने के लिये हमसे जुड़ें हर बुधवार रात 9:00 बजे Mentza पर ।

हम सब के पास होती हैं ढेरों बातें, ढेरों किस्से और कहानियां, बांटे यही कहानियां हमारे Mentza app पर, जहां 20 मिनट की लाइव बातचीत के माध्यम से आप रच सकते हैं अपना खुद का पॉडकास्ट जिसे दुनिया सुनेगी Spotify और दूसरे पॉडकास्ट चैनलों पर, तो आज ही Mentza app डाउनलोड करें और हमारी हिंदी रेडियो प्लेबैक इंडिया कम्यूनिटी ज्वाइन करें, बस फिर क्या ?
दिल खोल के बोल, हिंदी में बोल।
Download Mentza and Join us on
Share your stories, Pick people’s brains!
Link: https://on.mentza.com/communities/87

https://open.spotify.com/episode/00b8msRoc2pdzvFbe4PMbX?si=GaxG-QExQbaj0Cop3zjJQw&utm_source=copy-link

Related posts

गर्मी की छुट्टियां | कहानी बुनो

Sajeev Sarathie

Papa ne kaha tha | Kahani Buno

Sajeev Sarathie

Kahani Buno : Pahadon ka safar (Episode 5)

Sajeev Sarathie

Leave a Comment