एक गीत सौ अफ़साने

“तेरे प्यार का आसरा चाहता हूँ….”

आज के अंक के लिए हमने चुना है वर्ष 1959 की फ़िल्म ’धूल का फूल’ का गीत “तेरे प्यार का आसरा चाहता हूँ”। लता मंगेशकर और महेन्द्र कपूर की आवाज़ें, साहिर लुधियानवी के बोल, और एन. दत्ता का संगीत। Sound Recordist कौशिक साहब की किस बात पर यश चोपड़ा साहब को बिलकुल यकीन नहीं हुआ? ’धूल का फूल’ फ़िल्म के गीतों को मोहम्मद रफ़ी और महेन्द्र कपूर में बाँटने का फ़ैसला क्यों किया गया और गाने कैसे बाँटे गए? गीत की लम्बी अवधि को लेकर किस तरह की बहस हुई यश जी और साहिर साहब के बीच? गीत की रेकॉर्डिंग पर महेन्द्र कपूर साहब क्यों नर्वस हो गए? ये सब, आज के अंक में।

आलेख : सुजॉय चटर्जी

स्वर :  दीप्ति अग्रवाल 

प्रस्तुति : संज्ञा टण्डन

You can listen to the podcast on any of your following favorite platforms, don’t forget to follow Ek Geet Sau Afsane to get regular updates

Spotify ; https://open.spotify.com/show/3ER2oHNW0VYnLtaj7SK7dK?si=e-zokD_8QS6OfTFIjGRL8g&utm_source=copy-link

Gaana : https://gaana.com/season/ek-geet-sau-afsane-season-1

Jio Saavn : https://www.saavn.com/s/show/ek-geet-sau-afsane/1/KNFxHyfBS7E_

Amazon Music :
https://music.amazon.in/podcasts/d3596c0c-0151-46be-ba2d-de9b2b804440/ek-geet-sau-afsane?ref=dm_sh_SvkxoEUYAI4NWakCI7MNobB0C

iTunes : https://podcasts.apple.com/us/podcast/ek-geet-sau-afsane/id1560022809

Google Podcast : https://podcasts.google.com/feed/aHR0cHM6Ly9hbmNob3IuZm0vcy81MjgxMDIyMC9wb2RjYXN0L3Jzcw?ep=14

Related posts

सात अजूबे इस दुनिया में आठवीं अपनी जोड़ी

Sajeev Sarathie

रस्मे उल्फत को निभाएं तो निभाएं कैसे

Sajeev Sarathie

Madhukar Shyam Hamare Chor | Ek Geet Sau Afsane

Sajeev Sarathie

Leave a Comment