काव्य तरंग

आह ! वेदना मिली विदाई

जयशंकर प्रसाद | हिन्दी के महान कवि, नाटककार, कहानीकार, उपन्यासकार तथा निबंध-लेखक | उनकी जयंती पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए रेडियो प्लैबैक इंडिया प्रस्तुत करता है दीपिका भाटिया की आवाज मे उनकी कविता “आह ! वेदना मिली विदाई |”

Related posts

Aaina Kyon Na Dun | Mirza Ghalib

Sajeev Sarathie

हमसफर याद आया ।। गज़ल

Sajeev Sarathie

In memory of Aprajita Sharma : Prose

Sajeev Sarathie

Leave a Comment