काव्य तरंग

तूमने भी लिखी थी एक कविता || कविता

उस दिन तुमने भी लिखी थी एक कविता…
तुम्हारी नर्म हथेलियों की तरह
हर शब्द रेंगने लगे थे मेरी नग्न पीठ पर…

सुनिए Sanjaya Shepherd की प्रेम कविता दीपिका भाटिया के स्वर में

#Poetry #kavita #कविता #काव्य

Click any of the following link to listen to the whole episode

Spotify || Gaana || Jio Saavn || Amazon Music || iTunes

Related posts

वीनस जैन // ओपन माइक // जिंदगी का आलिंगन //

Amit

कवि और कविता विथ सुनीता ।। रवींद्र प्रभात

Sajeev Sarathie

काव्य तरंग // पूजा अनिल, निखिल आनंद गिरि // ओपन माइक – पिता दिवस विशेष एपिसोड || Kaavya Tarang // Pooja Anil, Nikhil Anand Giri // Open Mic – Father’s Day Special Episode

Amit

Leave a Comment