काव्य तरंग

Shaam E Shayari with Manuj Mehta | Full Recording

शामे शायरी की एक और दिलकश महफिल, Manuj Mehta के साथ, आनंद लिजिए अदब और शायरी की इस खूबसूरत शाम का ।

#shayari #ghazal #poetry

Click any of the following link to listen to the whole episode

Spotify || Gaana || Jio Saavn || Amazon Music || iTunes

Related posts

नहीं रुकते थे जो आंसू ।। गज़ल

Sajeev Sarathie

काव्य तरंग // रीतेश खरे // ओपन माइक // जीवन: नर्म, सख़्त, बहुत ख़ास

Amit

वीनस जैन // ओपन माइक // जिंदगी का आलिंगन //

Amit

Leave a Comment