बोलती कहानियाँ

द = देह, दरद, और दिल (बोलती कहानियाँ सीज़न 1) पॉडकास्ट # 24

रेडियो प्लेबैक इंडिया के साप्ताहिक स्तम्भ ‘बोलती कहानियाँ‘ के अंतर्गत हम आपको सुनवाते हैं हिन्दी की नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। बोलती कहानियाँ (सीज़न 1) केे पॉडकास्ट # 24 में आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं विभारानी की मर्मस्पर्शी कथा “द = देह, दरद, और दिल“, रीतेश खरे के स्वर में, सम्पादन व ध्वनि मुद्रण विकेश खरे द्वारा।

* सम्पादकीय चेतावनी: वयस्क विषय *

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी


गरज, कि उनको सुंदर बीवी का आग्रह भी नहीं था।
(विभारानी की “द = देह, दरद, और दिल” से एक अंश)


यूट्यूब पर सुनिये
गाना पर सुनिये
जियो सावन
एंकर पर सुनिये
गूगल पॉडकास्ट पर सुनिये
स्पॉटिफ़ाइ पर सुनिये
ऐपल पॉडकास्ट
एमेज़ॉन म्यूज़िक प्राइम

कहानी “द = देह, दरद, और दिल” का कुल प्रसारण समय 21 मिनट 4 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।
यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया boltikahaniyan.rpi@gmail.com पर सम्पर्क करें।

Season 1; Podcast #24, D=Deh Darad Aur Dil: Vibha Rani/2021/24. Voice: Reetesh Khare

Related posts

योगा टीचर: हीरेंद्र झा (बोलती कहानियाँ सीज़न 1) पॉडकास्ट # 18

Smart Indian

क़यामत का दिन उर्फ़ कब्र से बाहर (बोलती कहानियाँ सीज़न 1) पॉडकास्ट # 25

Smart Indian

निर्वासन (बोलती कहानियाँ सीज़न 1) पॉडकास्ट # 13

Smart Indian

Leave a Comment