Dil se Singer

ऑडियो: रानी माँ (कन्हैयालाल पाण्डेय)

‘बोलती कहानियाँ’ स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछली बार आपने शीतल माहेश्वरी के स्वर में साधना वैद की कहानी बोझ का पॉडकास्ट सुना था। आवाज़ की ओर से आज हम लेकर आये हैं कन्हैयालाल पाण्डेय की लघुकथा “रानी माँ”, जिसे स्वर दिया है, कन्हैयालाल पाण्डेय ने।

इस रचना का कुल प्रसारण समय 3 मिनट 42 सेकण्ड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानी, उपन्यास, नाटक, धारावाहिक, प्रहसन, झलकी, एकांकी, या लघुकथा को स्वर देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।


कन्हैयालाल पाण्डेय
4 नवम्बर, 1954 को हरदोई में जन्म। भारतीय रेल यातायात सेवा (सेवानिवृत्त)। हिन्दी में छह साहित्यिक तथा दो संगीत पुस्तकों का लेखन। साहित्य व संगीत के क्षेत्र में अनेक पुरस्कारों से सम्मानित

हर सप्ताह यहीं पर सुनिए एक नयी कहानी


सासु माँ कहतीं, “दुलहिन से पूछ लो।”
(कन्हैयालाल पाण्डेय की “रानी माँ” से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
रानी माँ mp3

#Fifteenth Story: Raani Maan; Author: Kanhayalal Pandey; Voice: Kanhayalal Pandey; Hindi Audio Book/2020/15.

Related posts

गीत उस्तादों के : चर्चा राग सोहनी की

कृष्णमोहन

एम एम क्रीम लौटे हैं एक बार फिर अपने अलग अंदाज़ के संगीत के साथ "लाहौर" में

Sajeev

तेरी है ज़मीन तेरा आसमां…तू बड़ा मेहरबान….कहते हैं बच्चों की दुआएं खुदा अवश्य सुनता है…

Sajeev

3 comments

RB Singh August 19, 2020 at 12:27 pm

Very nice, of my liking, a conventual family of 70s referred in story.

Reply
RB Singh August 19, 2020 at 12:28 pm

A story of my liking, one can correlate joint family of 70s.

Reply
Niraj Sharma August 25, 2020 at 2:06 pm

बहुत सुंदर लघुकथा। सुंदर प्रस्तुति के साथ।

Reply

Leave a Comment