Dil se Singer

संतोष श्रीवास्तव: बैराग के खाते में

रेडियो प्लेबैक इंडिया के साप्ताहिक स्तम्भ ‘बोलती कहानियाँ’ के अंतर्गत हम आपको सुनवाते हैं हिन्दी की नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में अनुराग शर्मा की ही लघुकथा ‘नाम का चमत्कार‘ का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं संतोष श्रीवास्तव की कथा ‘बैराग के खाते में’, अनुराग शर्मा के स्वर में।

कथा “बैराग के खाते में” का कुल प्रसारण समय 20 मिनट 26 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।


जबलपुर में जन्मी संतोष श्रीवास्तव हिंदी साहित्य का एक पहचाना हस्ताक्षर हैं। वे कालिदास पुरस्कार, महाराष्ट्र राज्य साहित्य अकादमी पुरस्कार, साहित्य शिरोमणि पुरस्कार, प्रियदर्शनी अकादमी पुरस्कार, महाराष्ट्र दलित साहित्य अकादमी पुरस्कार, बसंतराव नाईक लाइफ टाइम एचीवमेंट अवार्ड, कथाबिंब पुरस्कार, तथा कामलेश्वर स्मृति पुरस्कार सम्मान पा चुकी हैं।


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी


अतीत खुद को दोहराता है… सिद्धार्थ ने भी तो राजमहल का, पत्नी का, बच्चे का मोह, लोभ त्यागा था… कुछ पाने के लिए कुछ खोना तो पड़ता है न…
(संतोष श्रीवास्तव की कथा “बैराग के खाते में” से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
बैराग के खाते में MP3

#Eleventh Story, Bairaag Ke Khaate Mein: Santosh Shrivastav /Hindi Audio Book /2019/11. Voice: Anurag Sharma

Related posts

गर तुम भुला न दोगे सपने ये सच ही होंगे…हसरत जयपुरी का लिखा एक खूबसूरत नगमा

Sajeev

राग मेघ मल्हार की फुहार में भीगे फ़िल्मी गीत

Sajeev

ओल्ड इज़ गोल्ड – शनिवार विशेष – 61- पद्मश्री गायिका जुथिका रॉय और "बापू"

Sajeev

2 comments

Anonymous May 17, 2019 at 5:59 am

What a data of un-ambiguity and preserveness of precious experience concerning unexpected feelings.

Reply
Anonymous May 17, 2019 at 6:53 pm

Awesome post.

Reply

Leave a Comment