Dil se Singer

ऑडियो: अपना अपना भाग्य (जैनेंद्र कुमार)

रेडियो प्लेबैक इंडिया के साप्ताहिक स्तम्भ ‘बोलती कहानियाँ’ के अंतर्गत हम आपको सुनवाते हैं हिन्दी की नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में हिंदी के प्रसिद्ध साहित्यकार से रा यात्री की कथा ‘अवांतर प्रसंग‘ का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं प्रसिद्ध साहित्यकार जैनेंद्र कुमार की कहानी अपना अपना भाग्यअनुराग शर्मा के स्वर में।

कहानी “अपना अपना भाग्य” का कुल प्रसारण समय 15 मिनट 5 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।


साहित्य अकादमी पुरस्कार, हिंदुस्तानी अकादमी पुरस्कार, हस्तीमल डालमिया पुरस्कार, तथा पद्म भूषण से सम्मानित साहित्यकार श्री जैनेंद्र कुमार का वास्तविक नाम आनंदी लाल था। उपन्यास, कहानी, तथा निबंध लेखन के अतिरिक्त उन्होंने सम्पादन कार्य भी किया है।
(जन्म: 2 जनवरी 1905 – देहांत: 24 दिसंबर 1988)


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी


कुहरे की सफेदी में कुछ ही हाथ दूर से एक काली-सी मूर्ति हमारी तरफ आ रही थी। मैंने कहा – “होगा कोई”
(जैनेंद्र कुमार की “अपना अपना भाग्य” से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
अपना अपना भाग्य MP3

#Sixth Story, Apna Apna Bhagya: Jainendra Kumar/Hindi Audio Book/2019/6. Voice: Anurag Sharma

Related posts

गुनगुनाते लम्हे में अमृता-इमरोज़ के प्यार की दास्तां

Amit

हिन्दी सिनेमा के पहले दौर के कुछ कलाकारों की स्मृतियों के स्वर

PLAYBACK

अब क्या मिसाल दूं…वाकई बेमिसाल है ये गीत और इस गीत में रफ़ी साहब की आवाज़

Sajeev

3 comments

Anita February 13, 2019 at 7:28 am

मार्मिक कहानी, आज भी न जाने कितने बालक बड़े-छोटे शहरों में आकर खो जाते होंगे..

Reply
Anonymous February 16, 2019 at 6:48 pm

Great post.

Reply
Smart Indian February 21, 2019 at 1:35 am

आभार!

Reply

Leave a Comment