Dil se Singer

ऑडियो लघुकथा: छन्न

लोकप्रिय स्तम्भ “बोलती कहानियाँ” के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने शीतल माहेश्वरी के स्वर में अर्चना तिवारी की लघुकथा “उड़नपरी” का वाचन सुना था।

आज प्रस्तुत है निरञ्जन धुळेकर की लघुकथा छन्न, जिसे स्वर दिया है शीतल माहेश्वरी ने।

प्रस्तुत लघुकथा “छन्न” का कुल प्रसारण समय 5 मिनट 11 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं आदि को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।


प्यार इसीलिए करना चाहिए ताकि, पता चल जाए कि प्यार क्यों नही करना चाहिए!
~ निरञ्जन धुळेकर


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी


“थकान से मैं कभी नही सोया … कल खाना मिलेगा ये पता होता तो नींद मेरा भी पता ढूंढ ही लेती।”

(निरञ्जन धुळेकर की लघुकथा ‘छन्न’ से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
छन्न MP3


#28th Story, Chhann; Niranjan Dhulekar; Hindi Audio Book/2018/28. Voice: Sheetal Maheshwari

Related posts

खुशबू उड़ाके लाई है गेशु-ए-यार की.. अपने मियाँ आग़ा कश्मीरी के बोलों में रंग भरा मुख्तार बेग़म ने

Amit

सुर संगम में आज – पंडित बृज नारायण का सरोद वादन – राग श्री

Sajeev

कजरी के लोक स्वरूप : SWARGOSHTHI – 231 : FOLK KAJARI

कृष्णमोहन

5 comments

Archana Chaoji December 4, 2018 at 9:17 am

बहुत अच्छा वाचन ,शीतल जी की स्टाईल इतनी बढ़िया कि पूरी कहानी के भाव जीवंत हो उठे 👍

Reply
Anita December 4, 2018 at 10:41 am

दिल को छू लेने वाली कहानी..

Reply
Irajohri December 5, 2018 at 8:00 am

खूबसूरत कथा वाचन के साथ कथा

Reply
Unknown January 31, 2019 at 2:45 pm

बहुत अच्छी प्रस्तुति

Reply
Minni mishra October 10, 2020 at 3:36 am

बहुत ही सुंदर वाचन तदनुरूप बेहतरीन रचना है आपकी ।हार्दिक बधाई

Reply

Leave a Comment