Dil se Singer

रील बनाम रीयल (मिन्नी मिश्रा)

लोकप्रिय स्तम्भ “बोलती कहानियाँ” के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने शीतल माहेश्वरी के स्वर में राशि सिंह की लघुकथा “पॉकेटमनी” का वाचन सुना था।

आज प्रस्तुत है मिन्नी मिश्रा की लघुकथा रील बनाम रीयल, जिसे स्वर दिया है पूजा अनिल ने।

प्रस्तुत लघुकथा “रील बनाम रीयल” का गद्य कला और साहित्य के द्वैभाषिक मासिक सेतु के दिसम्बर 2018 अंक में उपलब्ध है। इसका कुल प्रसारण समय 4 मिनट 19 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं आदि को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।


विधा: लघुकथा;
शिक्षा: स्नातकोत्तर (हिंदी);
निवास: पटना (बिहार)
~ मिन्नी मिश्रा


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी


“अभी नहीं रोहित, जल्दी घर पहुँचना है।” अपना हाथ खींचते हुए मैं बोली।(मिन्नी मिश्रा की लघुकथा ‘रील बनाम रीयल’ से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
रील बनाम रीयल MP3


#First Story, Reel Banaam Real; Minni Mishra; Hindi Audio Book/2019/01. Voice: Pooja Anil

Related posts

“अच्छा लगता है जब पब्लिक आपके काम को पसंद करती है” -बबली हक : एक मुलाकात ज़रूरी है

Sajeev

“तू ही सागर तू ही किनारा…”, जानिए कि कैसे एक “ग़ैर फ़िल्मी” भक्ति गीत ने सुलक्षणा पण्डित को दिलाया फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड

PLAYBACK

माँ सब देखती है – बोलती कहानियाँ

Smart Indian

Leave a Comment