Dil se Singer

गीत अतीत 24 || हर गीत की एक कहानी होती है || बे नजारा || मॉम || सुदीप जयपुरवाले || ऐ आर रहमान

Geet Ateet 24
Har Geet Kii Ek Kahaani Hoti Hai…
Benazara
Mom
Sudeep Jaipurwale
Also featuring A R Rahman


जैसे एक्टर कई कई महीने किसी ख़ास फिल्म के लिए अपनी बॉडी पर काम करते हैं, मैंने इस टप्पे को गाने के लिए ६ महीने तक सिर्फ टप्पे का रियाज़ किया है ” –    सुदीप जयपुरवाले 

फ़िल्मी गीतों में शास्त्रीय गायन की परंपरा को वापस लेकर आये हैं ऐ आर रहमान, फिल्म “मॉम” की बंदिश “बे नज़ारा” के साथ. इस राग आधारित गीत को स्वरों की बुलंदी दी है सुदीप जयपुरवाले ने. आज गीत अतीत : हर गीत की एक कहानी होती है, में मिलिए सुदीप से और सुनिए इस टप्पा गीत के बनने की कहानी. जानिये क्या कहा था रहमान ने सुदीप के दादा जी के गाये टप्पे को सुनकर. प्ले पर क्लिक करें और सुनें.

डाउनलोड कर के सुनें यहाँ से….

सुनिए इन गीतों की कहानियां भी –

हौले हौले (गैर फ़िल्मी सिंगल)
कागज़ सी है ज़िन्दगी (जीना इसी का नाम है) 
बेखुद (गैर फ़िल्मी सिंगल)
इतना तुम्हें (मशीन) 
आ गया हीरो (आ गया हीरो)
ये मैकदा (गैर फ़िल्मी ग़ज़ल)
पूरी कायनात (पूर्णा)
दम दम (फिल्लौरी)
धीमी (ट्रैपड) 
कारे कारे बदरा (ब्लू माउंटेन्स)
रेज़ा रेज़ा (सलाम मुंबई)

Related posts

ऑडियो: नाम का चमत्कार (अनुराग शर्मा)

Smart Indian

डॉ. एन. राजम् की संगीत साधना : SWARGOSHTHI – 244 : DR. N. RAJAM

कृष्णमोहन

“मैंने जीवन के ३५-४० वर्ष लगातार १८-१८ घंटे काम किया है” -अमित खन्ना (पार्ट २) : एक मुलाकात ज़रूरी है

Sajeev

Leave a Comment