Dil se Singer

महफ़िल ए कहकशां -22, अपने पडो़सी दिल से भीनी-भीनी भोर की माँग कर बैठे गोटेदार गुलज़ार साहब, आशा जी एवं राग तोड़ी वाले पंचम दा


महफ़िल ए कहकशाँ 22








पंचम, आशा ताई और गुलज़ार 



दोस्तों सुजोय और विश्व दीपक द्वारा संचालित “कहकशां” और “महफिले ग़ज़ल” का ऑडियो स्वरुप लेकर हम हाज़िर हैं, “महफिल ए कहकशां” के रूप में पूजा अनिल और रीतेश खरे  के साथ।  अदब और शायरी की इस महफ़िल में आज पेश है गुलज़ार, राहुल देव बर्मन और आशा भोसले की तिकड़ी के सुरीले संगम से निकला एक नगमा ‘दिल पडोसी है’ एल्बम से| 









मुख्य स्वर – पूजा अनिल एवं रीतेश खरे

स्क्रिप्ट – विश्व दीपक एवं सुजॉय चटर्जी





Related posts

सिने-पहेली # 19 (जीतिये 5000 रुपये के इनाम)

PLAYBACK

इतनी बड़ी ये दुनिया जहाँ इतना बड़ा मेला….पर कोई है अकेला दिल, जिसकी फ़रियाद में एक हँसी भी है उपहास की

Sajeev

राग जयन्ती मल्हार : SWARGOSHTHI – 473 : RAG JAYANTI MALHAR

कृष्णमोहन

Leave a Comment