Dil se Singer

श्रद्धांजलि : SWARGOSHTHI – 314 : A TRIBUTE

स्वरगोष्ठी – 314 में आज

विशेष अंक : किशोरी ताई को भावभीनी श्रद्धांजलि

फिल्म “भिन्न षडज” के माध्यम से विदुषी किशोरी अमोनकर की स्मृतियों को सादर नमन
‘रेडियो
प्लेबैक इण्डिया’ के मंच पर ‘स्वरगोष्ठी’ के विशेष अंक में मैं कृष्णमोहन
मिश्र, आप सब संगीत-प्रेमियों का हार्दिक स्वागत करता हूँ। मित्रों, आज के
इस अंक में हम भारतीय संगीत जगत की सुप्रसिद्ध गायिका विदुषी किशोरी अमोनकर
को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। विगत 3 अप्रैल 2017 को
शास्त्रीय संगीत की सुप्रसिद्ध गायिका पद्मविभूषण किशोरी अमोनकर का 84 वर्ष
की आयु में देहावसान हो जाने से हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत जगत को गहरी
क्षति पहुँची है। शास्त्रीय संगीत जगत में किशोरी जी का जो स्थान रिक्त
हुआ है, उसकी पूर्ति हो पाना सम्भव नहीं है। संयोग से निधन के अगले
सप्ताह सोमवार 10 अप्रैल को किशोरी जी का जन्मदिवस था। आज के इस विशेष अंक
में हम किशोरी अमोनकर जी के व्यक्तित्व और कृतित्व पर निर्मित एक फिल्म का
प्रदर्शन आपके लिए कर रहे हैं। सुप्रसिद्ध फ़िल्मकार अमोल पालेकर और संध्या
गोखले द्वारा निर्देशित इस फिल्म को हम ‘यू-ट्यूब’ से साभार प्रस्तुत कर
रहे हैं।
‘Bhinna
Shadja’, a film on the unparalleled contributions of Ganasaraswati
Padmavibhushan Kishori Amonkar (fondly known as Tai) to Indian classical
music, is also an exploration of larger debates on the nature of art
itself. Often criticised for experimenting with classical traditions of
the Japiur-Atrauli Gharana, Tai nonetheless strove in her passionate
resolve to emphasise evocation of moods over an orthodox rendition of
ragas. This vilification by conservatives however did not deter her
audiences and other contemporary artists from appreciating her
transcendental aesthetics. The film explores some of these questions as
not just pertaining to her own life but as artistic dilemmas that
resonate in many other contexts. Tai’s apprehension that with age her
music might begin to elude her is also one of the most fundamental
predicaments that artists face.

Release year – 2011

Running time – 1:09:34

Language – Marathi

Directors – Amol Palekar and Sandhya Gokhale


Category – Documentary
License – Standard YouTube License
फिल्म – भिन्न षडज : विदुषी किशोरी अमोनकर के व्यक्तित्व और कृतित्व पर केन्द्रित वृत्तचित्र

अपनी बात
मित्रों,
‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के साप्ताहिक स्तम्भ ‘स्वरगोष्ठी’ के इस विशेष
अंक में आज हमने विदुषी किशोरी अमोनकर की स्मृतियों को श्रद्धांजलि अर्पित
की है। आगामी अंक में हम एक नई श्रृंखला आरम्भ करेंगे। इस श्रृंखला के
अन्तर्गत हम फिल्म जगत के महान संगीतकार रोशन के राग आधारित गीतो पर चर्चा
करेंगे। हमारी आगामी श्रृंखलाओं के विषय, राग, रचना और कलाकार के बारे में
यदि आपकी कोई फरमाइश हो तो हमें swargoshthi@gmail.com पर अवश्य लिखिए। अगले अंक में रविवार को
प्रातः 8 बजे हम ‘स्वरगोष्ठी’ के इसी मंच पर सभी संगीत-प्रेमियों का स्वागत
करेंगे।
प्रस्तुति : कृष्णमोहन मिश्र  



रेडियो प्लेबैक इण्डिया 

Related posts

मैंने देखी पहली फिल्म – रंजना भाटिया का संस्मरण

कृष्णमोहन

राग भीमपलासी : SWARGOSHTHI – 317 : RAG BHIMPALASI

कृष्णमोहन

राग शंकरा : SWARGOSHTHI – 417 : RAG SHANKARA

कृष्णमोहन

1 comment

Vijaya Rajkotia April 24, 2017 at 3:49 am

So beautifully rendered raag Bhinna Shadaj by Kishori Tai. She lived her life in music, for music and leaving behind the great legacy of her unique style of singing for the future generation. May God bless her soul in peace.

Reply

Leave a Comment