Dil se Singer

इसी को प्यार कहते हैं.. प्यार की परिभाषा बता रहे हैं हसरत जयपुरी और हुसैन बंधु



महफ़िल ए कहकशाँ 15




दोस्तों सुजोय और विश्व दीपक द्वारा संचालित “कहकशां” और “महफिले ग़ज़ल” का ऑडियो स्वरुप लेकर हम हाज़िर हैं, “महफिल ए कहकशां” के रूप में पूजा अनिल और रीतेश खरे  के साथ।  अदब और शायरी की इस महफ़िल में आज पेश है गीतकार व शायर हसरत जयपुरी की लिखी नज़्म हुसैन बंधुओं की आवाज़ में| 

मुख्य स्वर – पूजा अनिल एवं रीतेश खरे 
स्क्रिप्ट – विश्व दीपक एवं सुजॉय चटर्जी










Related posts

सिनेमा के सौ साल – 23 : भाई दूज पर विशेष

कृष्णमोहन

चलो हसीन गीत एक बनायें…..सुनिए कैसे 'शौक़ीन' दादामुनि अशोक कुमार ने स्वर दिया इस मजेदार गीत को

Sajeev

पायदान २३ पर आयुष्मान का जादू और २२ पर है एक कमचर्चित प्रविष्ठी

Sajeev

Leave a Comment