Dil se Singer

“बॉलीवुड में जिस तरह के गानों की फरमाईश होती है, वो मेरे घराने के नहीं हैं”- संजोय चौधरी : एक मुलाकात ज़रूरी है

एक मुलाकात ज़रूरी है (29)

एक फिल्म में जितना महत्त्व फिल्म के गीतों का होता है, उतना ही महत्वपूर्ण होता है फिल्म का पार्श्व संगीत, जो पटल पर अवतरित हो रहे दृश्यों को सटीक अंजाम देता है, आज हम आपको मिलवाने जा रहे हैं हमारी बॉलीवुड इंडस्ट्री के दिग्गज पार्श्व संगीत स्कोरर संजोय चौधरी से जो कि महान संगीतकार सलिल चौधरी के सुपुत्र भी हैं, मिलिए “सरफ़रोश”, “अ वेडनेसडे”, “बेबी” और “प्रेम रतन धन पायो” जैसी ढेरों बड़ी और हिट फिल्मों के पार्श्व संगीतकार से आज “एक मुलाकात ज़रूरी है” में….

एक मुलाकात ज़रूरी है इस एपिसोड को आप यहाँ से डाउनलोड करके भी सुन सकते हैं, लिंक पर राईट क्लीक करें और सेव एस का विकल्प चुनें 

Related posts

राग भीमपलासी : SWARGOSHTHI – 294 : RAG BHIMPALASI

कृष्णमोहन

खय्याम का संगीत था कुछ अलग अंदाज़ का, जिसमें शायरी और बोलों का भी होता था खास स्थान

Sajeev

शत्रुओं की छाती पर लोहा कुट.. बाबा नागार्जुन की हुंकार के साथ आईये करें गणतंत्र दिवस का स्वागत

विश्व दीपक

1 comment

अजय कुमार झा September 21, 2016 at 7:47 am

बहुत सुन्दर प्रस्तुति संजीव जी । संजोय चौधरी जी को जानना अच्छा लगा ।

Reply

Leave a Comment