Dil se Singer

आओ फिर से दिया जलाएं…. आव्हान उन सबके लिए जो किसी भी तरह की प्रेरणा चाहते हैं

महफ़िल ए कहकशाँ 12


अटल बिहारी वाजपेयी और लता मंगेशकर 





दोस्तों सुजोय और विश्व दीपक द्वारा संचालित “कहकशां” और “महफिले ग़ज़ल” का ऑडियो स्वरुप लेकर हम हाज़िर हैं, “महफिल ए कहकशां” के रूप में पूजा अनिल और रीतेश खरे  के साथ।  अदब और शायरी की इस महफ़िल में आज पेश है लता मंगेशकर की आवाज़ में अटल बिहारी वाजपेयी की नज़्म|





मुख्य स्वर – पूजा अनिल एवं रीतेश खरे 

स्क्रिप्ट – विश्व दीपक एवं सुजॉय चटर्जी





Related posts

“मुझे दो सालों तक राजेश रोशन से मिलने नहीं दिया गया” – गीतकार इब्राहीम अश्क

Sajeev

सुनिए शिशिर पारखी से ग़ज़ल "तुम मेरे पास होते हो गोया…जब कोई दूसरा नही होता….."

Amit

बोलती कहानियाँ – कवि का साथ – अमृतलाल नागर

Smart Indian

Leave a Comment