Dil se Singer

“मेरे लिए प्लेबैक सिंगर बनना मतलब रहमान सर के लिए गाना था”-साशा तिरुपति : एक मुलाक़ात ज़रूरी है

एक मुलाकात ज़रूरी है (22)

वैंकोवर से माया नगरी मुंबई तक का सफ़र तय किया, ए आर रहमान के ‘गुरु’ फिल्म के गीतों को सुनकर प्रेरित हुई बेहद सुरीली आवाज़ की मालकिन गायिका साशा तिरुपति ने. बॉलीवुड में ढेरों हिट गीतों का गाने वाली साशा का ताज़ा गीत अभी हाल ही में रिलीस हुआ है – सरसरिया, बेहद महत्वकांक्षी फिल्म “मोहनजो दारो” की एल्बम से. बेहद दिलचस्प कहानी है साशा की, मिलिए इसी खूबसूरत आवाज़ की धनी गायिका से आज कार्यक्रम “एक मुलाकात ज़रूरी है” में…

एक मुलाकात ज़रूरी है इस एपिसोड को आप यहाँ से डाउनलोड करके भी सुन सकते हैं, लिंक पर राईट क्लीक करें और सेव एस का विकल्प चुनें 

Related posts

हाय रे वो दिन क्यों न आये….ओल्ड इस गोल्ड पर पहली बार पंडित रविशंकर

Sajeev

रेडियो प्लेबैक ओरिजिनल – तुमको खुशबू कहूं कि फूल कहूं या मोहब्बत का एक उसूल कहूं

Amit

लकड़ी की काठी, काठी पे घोडा…करीब २५ सालों के बाद भी ये गीत बच्चों के मन को वैसा ही भाता है जैसा पहले…

Sajeev

Leave a Comment