Dil se Singer

आज की महफ़िल में सुनिए क्यों संगीतकार खय्याम दस वर्ष की छोटी उम्र में घर से भाग गए?

खय्याम 

महफ़िल ए कहकशाँ 8



दोस्तों सुजोय और विश्व दीपक द्वारा संचालित “कहकशां” और “महफिले ग़ज़ल” का ऑडियो स्वरुप लेकर हम हाज़िर हैं, “महफिल ए कहकशां” के रूप में पूजा अनिल और रीतेश खरे  के साथ।  अदब और शायरी की इस महफ़िल में आज सुनिए आशा भोंसले की गाई और खय्याम साहब द्वारा संगीतबद्ध यह ग़ज़ल |





मुख्य स्वर – पूजा अनिल एवं रीतेश खरे 
स्क्रिप्ट – विश्व दीपक एवं सुजॉय चटर्जी








Related posts

मैं पैयम्बर तो नहीं, मेरा कहा कैसे हो

Amit

'ओल्ड इज़ गोल्ड' – ई-मेल के बहाने यादों के ख़ज़ानें – ०१

Sajeev

अनुराग शर्मा की कहानी "बेमेल विवाह"

Amit

Leave a Comment