Dil se Singer

“फिल्म का पार्श्व संगीत रचना एक नया मगर दिलचस्प अनुभव रहा”- अमानो मनीष

एक मुलाकात ज़रूरी है (11)

दोस्तों आज के हमारे मेहमान है, संगीत साधक अमानो मनीष, मंजे हुए स्लाईड गिटार वादक अमानो ने अभी हाल ही में ओशो के शुरूआती जीवन पर आधारित फिल्म “रेबेलियस फ्लावर” में बतौर संगीत निर्देशक काम किया है. जानिये आज की मुलकात में कि क्यों अमानो ने बहुत युवा उम्र में ही ओशो आश्रम में जाने का निर्णय लिया था, क्यों रहा रेबेलियस फ्लावर उनके लिए एक अनूठा मगर रोचक अनुभव. क्यों वो अध्यात्म और संगीत में बीच खुद को मानते हैं एक सच्चा साधक. और भी बहुत सी रोचक बातें हैं “एक मुलकात ज़रूरी है” के इस एपिसोड में सजीव सारथी के साथ. सुनिए और सुनाईये ….

एक मुलाकात ज़रूरी है का ये एपिसोड आप यहाँ से डाउनलोड भी करके सुन सकते हैं, लिंक पर राईट क्लिक करें और सेव एस चुनें.

Related posts

कल्याण थाट के राग : SWARGOSHTHI – 214 : KALYAN THAAT

कृष्णमोहन

मैंने देखी पहली फिल्म : अनुराग शर्मा की यादों से झांकती दो फ़िल्में

कृष्णमोहन

फ़िल्मी प्रसंग – 2: “सपने ख़ुशी के सजाता चल…” – अलविदा अभिलाष जी!

PLAYBACK

Leave a Comment